जानिए काढ़ा वास्तव में क्या है? | क्या गर्मियों में काढ़ा पीना सुरक्षित है?, कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है?

0
421
कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है

बीते एक साल से शरीर में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा सर्वाधिक उपयोगी पदार्थ रहा है। कहा जाता है की काढ़ा में मौजूद चीजें पोषक तत्वों का भण्डार है, और वो हमारे शरीर में इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाकर कोरोना संक्रमण जैसी बीमारी से लड़ने में प्रभावशाली हो सकती है। सर्दी के मौसम में खांसी तथा जुखाम को माद देने के लिए काढ़ा एक मजबूद घरेलु उपाय या उपचार है।

लेकिन सवाल यह है की क्या गर्मियों में काढ़ा पीना सुरक्षित है? क्योंकि काढ़ा बनाने में जो सामग्री इस्तेमाल की जाती है वो गरम प्रकृति की होती है। तो हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएँगे की क्या गर्मियों में काढ़ा पीना सुरक्षित है?, गर्मियों में काढ़ा पिने से कौन-कौन से नुक्सान होते है तथा कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है? आदि। यह जानकारी आपके लिए बहुत जरुरी है इसलिए इसे अंत तक जरूर पढ़ें।

कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है
कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है

आखिर काढ़ा वास्तव में क्या है?

कुछ प्राकृतिक तथा आयुर्वेदिक वस्तुओं के मिश्रण को मिलाकर काढ़ा बनाया जाता है। काढ़ा एक आयुर्वेदिक उपचार है जिसके कई सारे स्वास्थ्य लाभ है। काढ़ा मुलेठी, लौंग, गिलोय, तुलसी, अदरक, दालचीनी जैसे मसालों तथा औषधीय पौधों को उबालकर बनाया जाता है। काढ़ा मौसमी संक्रमण तथा फ्लू से लड़ने में हमारी मदद करता है। काढ़ा गठिया, अस्थमा, सिरदर्द, ब्रोंकाइटिस, मूत्र पथ के संक्रमण, और लिवर से पीड़ित लोगों के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

गर्मियों में काढ़ा पीना सुरक्षित है?

दोस्तों काढ़ा बनाने में इस्तेमाल की जाने वाली सभी सामग्री गर्म प्रकृति की होती है। इसलिए अक्सर लोगों के मन में यही सवाल आता है कीक्या गर्मियों में काढ़ा पीना सुरक्षित है? या नहीं। काढ़ा एक स्वस्थ पेय पदार्थ है इसका सेवन ठण्ड और शुष्क मौसम के दौरान करना चाहिए। यदि कोई गर्मी के मौसम में काढ़ा का सेवन अधिक मात्रा में कर रहा है, तो उसे एसिडिटी, हाई ब्लड प्रेशर, नाक से खून आना, आदि जैसी कई सारी स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती है।

कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है
कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की आप गर्मी के दिनों में काढ़ा का सेवन नहीं कर सकते। दोस्तों सुबह उठाने के एक घंटे बाद या फिर शाम को 4 या 5 बजे के बिच काढ़ा का सेवन करना उचित होगा। खाली पेट काढ़ा का सेवन ना करें क्योंकि इसमें मौजूद तत्व एसिडिटी का कारण बन सकते सकते, इसका सेवन आप नाश्ता करने के बाद कर सकते है।

आप एक बार में 150ml से ज्यादा काढ़ा का सेवन ना करें, नहीं हो आपको कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। काढ़ा बनाते वक्त अदरक तथा काली मिर्च जैसी सामाग्री सिमित मात्रा में उपयोग करें साथ ही शहद ही मिलाये क्योंकि शहद एसिडिटी और मतली को बेअसर करता है।

कोरोना वायरस में काढ़ा कैसे मदद करता है?

विशेषज्ञों के अनुसार काढ़ा हमारे इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाता है, ये हमारे शरीर में इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए सबसे अच्छा उपचार है। कई रिपोर्ट के अनुसार यह दावा किया जा रहा है की कोरोना वायरस कमजोर इम्युनिटी सिस्टम वाले लोगों प्रभावित कर रहा है। इस संकट कालीन स्थित में काढ़ा एक मुख्य तथा आवश्यक उपचार हो सकता है।

लेकिन काढ़ा का अधिक मात्रा में सेवन करने से आप परेशानियों में पड़ सकते हो। इसलिए सिमित मात्रा में ही काढ़ा का सेवन करें और स्वस्थ रहें। दोस्तों किसी भी वस्तु का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर या चिकित्सक की सलाह जरूर लें। इस तरह की जानकारी सबसे पहले पढने के लिए हमारी वेबसाइट को जरूर सब्सक्राइब करें।

यह भी जरूर पढ़ें:-

कार्तिक आर्यन की जीवनी

करण मेहरा को पुलिस ने गिरफ्तार क्यों किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here